गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में आयोजित प्रेरणा विमर्श-2020 में अतिथि के तौर पर शामिल हुए डॉ. हरीश चन्द्र बर्णवाल

February 10, 2020 admin 0

प्रेरणा संस्थान ने प्रेरणा विमर्श-2020 के नाम से गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में एक सत्र फिल्मों को लेकर था। कार्यक्रम 9 फरवरी को सुबह 10 बजे आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार और लेखक डॉ. हरीश चन्द्र बर्णवाल भी अतिथि के तौर पर शामिल हुए।  परिचर्चा का विषय था – भारतीय विरासत एवं सिने विमर्श। इस कार्यक्रम में फिल्म एंड टेलीविजन इंटस्टीट्यूट के पूर्व अध्यक्ष और युधिष्ठिर की भूमिका के लिए विख्यात  गजेंद्र [More…]

प्रेरणा विमर्श-2020 के फिल्म से जुड़ी परिचर्चा में हिस्सा लेंगे हरीश चन्द्र बर्णवाल

February 7, 2020 admin 0

प्रेरणा संस्थान ने प्रेरणा विमर्श-2020 के नाम से गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम का आयोजन किया। तीन दिनों तक चलने वाले इस कार्यक्रम में कई विषयों पर गोष्ठी का आयोजन किया गया है। इसका एक सत्र फिल्मों से संबंधित विषय को लेकर है। इस कार्यक्रम में फिल्म संबंधित विषयों पर चर्चा के साथ ही कई नवोदित फिल्मकारों को सम्मानित किया जाएगा। कार्यक्रम 9 फरवरी को सुबह 10 बजे आयोजित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार और लेखक डॉ. हरीश [More…]

प्रेरणा चित्र भारती फिल्मोत्सव 2020 के ज्यूरी बने हरीश चन्द्र बर्णवाल

February 3, 2020 admin 0

प्रेरणा संस्थान ने शॉर्ट एवं डॉक्यूमेंट्री फिल्मों को लेकर एक कॉम्पिटिशन का आयोजन किया। इसमें पत्रकारिता के सैकड़ों विद्यार्थियों ने अपनी फिल्में भेंजीं। जिसे देखने के लिए विशेष ज्यूरी की बैठक 2 फरवरी को बुलाई गई। इसमें डॉक्टर हरीश चन्द्र बर्णवाल भी शामिल हुए। ज्यूरी में श्री हरीश के अलावा वरिष्ठ फिल्मकार श्री सुनील बत्ता और लोकसभा टीवी के वरिष्ठ एंकर प्रतिबिंब शर्मा भी शामिल हुए। ज्यूरी के सामने एक साथ 45 शॉर्ट और डॉक्यूमेंट्री फिल्में दिखाई गईं। सभी ज्यूरी ने प्रत्येक [More…]

देश भर के प्रोफेसरों के ट्रेनिंग सेशन को डॉ हरीश चन्द्र बर्णवाल ने किया संबोधित

January 14, 2020 admin 0

देश-विदेश में प्रतिष्ठित जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में देश भर के लेक्चरर्स-प्रोफेसर्स की ट्रेनिंग आयोजित की गई है। इन लोगों को अलग-अलग क्षेत्रों के विशेषज्ञों से मिलाया जा रहा है। इसी कड़ी में 13 जनवरी को डॉ हरीश चन्द्र बर्णवाल को आमंत्रित किया गया। उन्होंने पत्रकारिता की भाषा को लेकर अपने अनुभव बांटे।     इस कार्यक्रम में देश भर के शिक्षक शामिल हुए। ये एक इंटरेक्टिव सेशन था, जिसमें प्रोफेसर्स ने खूब सवाल पूछे।

विश्व पुस्तक मेले में डॉ. हरीश चन्द्र बर्णवाल की सभी पुस्तकें उपलब्ध

January 10, 2020 admin 0

दिल्ली में इस समय विश्व पुस्तक मेला पूरे शबाब पर है। देश भर से पुस्तक प्रेमी इस पुस्तक मेले में पहुंच रहे हैं। ये पुस्तक मेला 4 जनवरी से शुरू हुआ है, जो 12 जनवरी तक चलेगा। डॉ. हरीश चन्द्र बर्णवाल की सभी पुस्तकें यहां उपलब्ध हैं, जिसे लेकर लोग उत्साह दिखा रहे हैं। हरीश चन्द्र बर्णवाल की नई पुस्तक लॉर्ड ऑफ रिकॉर्ड्स प्रभात प्रकाशन के स्टॉल पर उपलब्ध है। लेखक जब इस स्टॉल पर पहुंचे तो सभी पुस्तकें बिक चुकी थीं। [More…]

“टेलीविजन की भाषा” पुस्तक का तीसरा संस्करण भी प्रकाशित, विश्व पुस्तक मेले में उपलब्ध

January 10, 2020 admin 0

वरिष्ठ पत्रकार और लेखक हरीश चन्द्र बर्णवाल की पुस्तक टेलीविजन की भाषा पुस्तक का तीसरा संस्करण भी प्रकाशित होकर आ गया है। इस पुस्तक को राधाकृष्ण प्रकाशन (राजकमल) ने प्रकाशित किया है। नया संस्करण दिल्ली में आयोजित पुस्तक मेले में भी उपलब्ध है। पत्रकारिता के विद्यार्थियों के बीच इस पुस्तक की जबरदस्त मांग है। लेखक हरीश ने इस पुस्तक में टेलीविजन पत्रकारिता के विद्यार्थियों के लिए भाषा में हो रहे नए प्रयोगों की चर्चा की है। इस पुस्तक को पत्रकारिता के कई [More…]

नए साल पर लिखी हरीश चन्द्र बर्णवाल की कविता वायरल

December 31, 2019 admin 0

नए वर्ष के आगमन पर वरिष्ठ लेखक और पत्रकार डॉ. हरीश चन्द्र बर्णवाल ने एक नई कविता लिखी है। ये कविता इस समय सोशल मीडिया पर वायरल है। खुद हरीश ने इसे अपने फेसबुक पेज पर शेयर किया है। …तो नया साल हो नाम की इस कविता के कई गूढ़ मायने हैं।आप भी इस कविता का आनंद लीजिए….  

मंगलायतन यूनिवर्सिटी में आयोजित गेस्ट लेक्चर की विस्तृत कवरेज अखबारों में

December 2, 2019 admin 0

मंगलायतन यूनिवर्सिटी में आयोजित दो दिवसीय विशेष कार्यक्रम की मीडिया ने जबरदस्त कवरेज की। गौरतलब है कि इस कार्यक्रम में डॉ. हरीश चन्द्र बर्णवाल को विशेष रूप से आमंत्रित किया गया था। ये कार्यक्रम 29 और 30 नवंबर को रखा गया था। इस विशेष लेक्चर के दौरान मंगलायतन यूनिवर्सिटी के सभी विद्यार्थी और अधिकांश शिक्षक भी मौजूद थे।

1 2 3 4 5 14