नरेंद्र मोदी का दिमाग कंप्यूटर से भी तेज चलता है..!

March 20, 2016 admin 0

इस शीर्षक को पढ़कर ऐसा लग रहा होगा कि कहीं चाचा चौधरी पर लिखे लेख को तो नहीं पढ़ रहा हूं। लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। हां मैंने संदर्भ बिल्कुल वहीं से लिया है। लेकिन ये सब कुछ कहने के पीछे मेरे अपने तर्क हैं। इस तर्क को व्यवहारिकता की कसौटी में परखने की कोशिश करता हूं। दरअसल, मैंने अपनी किताब ‘मोदी मंत्र’ की शुरुआत नरेंद्र मोदी के द्वारा बार-बार दोहराए जाने वाले एक बयान से की है। नरेंद्र [More…]

क्या वक्त नहीं आ गया है कि कांग्रेस को खत्म कर दिया जाए?

March 15, 2016 admin 0

बहुत कम लोगों को पता होगा कि जब देश को आजादी मिली थी, तो राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने सबसे पहले कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देते हुए कहा था कि कांग्रेस पार्टी को अब खत्म कर देना चाहिए, क्योंकि इसका गठन आजादी के आंदोलन के लिए एक संगठन के रूप में हुआ था। हालांकि कांग्रेस को खत्म तो नहीं किया गया, लेकिन बार-बार इस बात की चर्चा जरूर होती रही। सवाल ये भी उठते रहे कि आखिर राष्ट्रपिता महात्मा [More…]

मोदी विरोध की सनक में देश विरोध पर तो नहीं उतर आया विपक्ष?…इसलिए उठ रहे हैं सवाल!

March 9, 2016 admin 0

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को बेइज्जत करने का विपक्ष के सारे नेता मिलकर कोई मौका नहीं छोड़ना चाहते, चाहे इसके लिए देश की संसदीय परंपराओं को ध्वस्त करना पड़े, देशद्रोह को भी समर्थन क्यों नहीं करना पड़े या फिर चाहे देश की इज्जत पूरी दुनिया में क्यों न धूमिल करना पड़े। बिना किसी भूमिका के सीधे-सीधे कुछ उदाहरण के जरिये अपनी बात रख रहा हूं। 1-ये लगातार दूसरा मौका है जब राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर संशोधन प्रस्ताव [More…]

तू इस तरह से मेरी ज़िंदग़ी में शामिल है!

February 9, 2016 admin 0

10 दिसंबर 2005 की घटना है। उन दिनों मैं स्टार न्यूज में कार्यरत था। मुंबई के जुहू तारा रोड स्थित रोटरी सेंटर में एक कार्यक्रम की तैयारियां जोर-शोर से चल रही थीं। इस कार्यक्रम के दो हीरो थे। एक निदा फाजली, जिनकी किताब का विमोचन था और दूसरा मैं, जिसे अखिल भारतीय अमृत लाल नागर पुरस्कार का प्रथम पुरस्कार मिलना था। पूरा कार्यक्रम तय करने के अलावा सभी गेस्टों के आदर सत्कार की जिम्मेदारी भी मेरी थी। खास बात ये [More…]

…तो मैं अपना भारतेंदु हरिश्चंद्र अवॉर्ड वापस कर दूंगा

October 19, 2015 admin 0

आतंकवादी सिर्फ वही नहीं होते हैं जो सामान्य तौर पर आम लोगों के बीच खून-खराबा करते हैं, बल्कि इस देश में धीरे-धीरे ऐसे आतंकवादियों के चेहरे से भी नकाब उतर रहा है जिनके हाथ में कोई बंदूक या अत्याधुनिक हथियार नहीं, बल्कि कलम है। ये “बौद्धिक आतंकवादी” हैं। ये आतंकवादी भी विद्रोही किस्म के हैं। देश के लोकतंत्र को ध्वस्त कर देना चाहते हैं। ऐसा लगता है कि इन्हें इस बात पर कतई यकीन नहीं है आम जनता बहुमत से [More…]

आप से पांच सवाल

March 4, 2015 admin 0

आम आदमी पार्टी की नेशनल एक्जीक्यूटिव ने पीएसी से योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को हटाने का फैसला लोकतांत्रिक तरीके से लिया है। बहुत अच्छा किया कि वोटिंग का सहारा लिया। बैठक में मौजूद 19 में से 11 लोगों ने उनके खिलाफ वोट किया तो 8 लोगों ने जिनमें खुद योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण भी शामिल थे, उनके पक्ष में वोट किया। सुनने में तो ये चीजें बहुत अच्छी लगती हैं। लेकिन हकीकत ये है कि जिन सिद्धांतों और [More…]

मितवा ओ मितवा…तुझको क्या डर है रे!

January 27, 2015 admin 0

आज जब दुनिया के सबसे ताकतवर देश के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने सिरी फोर्ट में अपना भाषण समाप्त किया तो उसके बाद वो तुरंत निकल नहीं गए, बल्कि वहां मौजूद लोगों से बातचीत की। उनसे घुलेमिले। यही नहीं कई लोगों के साथ सेल्फी भी खिंचवाई। माहौल भावनापूर्ण था। इन सबके बीच सबसे अनोखी चीज थी बैकग्राउंड में चल रहा लगान का गाना। ‘मितवा.. ओ मितवा… तुझको क्या डर है रे.. ये धरती…अपनी है…अपना अंबर है ये’ एक बार गाना खत्म [More…]

“टेलीविजन की भाषा” किताब पर शब्दांकन का विशेष आलेख

September 5, 2014 admin 0

“टेलीविजन की भाषा” किताब के लिए जब साल 2011 का भारतेंदु हरिश्चंद्र पुरस्कार लेखक हरीश चन्द्र बर्णवाल के नाम पर ऐलान किया गया तो शब्दांकन वेबसाइट ने इस पर विशेष आलेख प्रस्तुत किया। इसमें एक चैप्टर भी शामिल किया गया। नीचे दिए लिंक से आप इस किताब और लेखक के बारे में और जानकारी हासिल कर सकते हैं http://www.shabdankan.com/2014/09/-Bhartendu-Harishchandra-Award-2011-HarishChandraBurnwal.html

Modi Mantra available in Kindle Edition

March 12, 2014 admin 0

The book, shows Gujrat’s Chief Minister Narendra Modi’s growth model in Gujarat along with his mission and vision for ‘Ek Bharat Shrestha Bharat’. All in all, there are 6 chapters in the book and each chapter is further divided in various parts. Every single part has been well researched and have been written in easy to understand but effective bullet points. Author Harish Chandra Burnwal have also used Modi’s various speeches to quote and support some of his findings. Harish [More…]

पाठक से मोदी का परिचय कराती पुस्तक

March 11, 2014 admin 0

नई दिल्ली | नरेंद्र मोदी पर अबतक ऐसी कोई किताब नहीं आई है, जिसकी प्रस्तावना स्वयं उन्होंने लिखी हो। ‘मोदी मंत्र’ इस लिहाज से विशेष पुस्तक है।198 पृष्ठ की इस किताब में कुल सात अध्याय हैं। विषय सूची देखकर पहली दृष्टि में साफ हो जाता है कि नरेंद्र मोदी के विचारों को विस्तार से किताब में समाहित किया गया है। वह जीवन दर्शन के बारे में उनके विचार हों या फिर सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक दर्शन के बारे में। इस पुस्तक [More…]

1 2 3 4 5 6