कहां से खरीदें “टेलीविजन की भाषा” किताब

September 9, 2011 admin 0

राजकमल प्रकाशन समूह (राधाकृष्ण) द्वारा प्रकाशित किताब – टेलीविजन की भाषा इस समय दुनिया की हर बड़ी पोर्टल में ऑन लाइन खरीदी जा सकती है। नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और अपने पसंद की साइट से किताब खरीद सकते हैं अमेजन की साइट http://www.amazon.in/Television-Bhasha-Harish-Chandra-Burnwal/dp/8183614523 फ्लिप कार्ट साइट https://www.flipkart.com/television-ki-bhasha/p/itme87g4k37cgavu हिन्दी बुक सेंटर http://www.hindibook.com/index.php?p=sr&Uc=HB-33314 राजकमल प्रकाशन की साइट http://rajkamalprakashan.com/default/television-ki-bhasha-4803        

क्या है “टेलीविजन की भाषा” किताब – आप भी पढ़िए

September 3, 2011 admin 0

अनुमान के मुताबिक हिन्दी में लगभग एक लाख पैंतालीस हजार शब्द हैं, लेकिन हिन्दी टेलीविजन पत्रकारिता के लिए महज पन्द्रह सौ शब्दों की जानकारी ही काफी है यानी अगर आपने इतने शब्दों की जानकारी हासिल कर ली तो यकीन मानिए, आप भाषा के लिहाज से हिन्दी के अच्छे टेलीविजन पत्रकार तो जरूर बन जाएँगे । अफसोस की बात है कि ये जानकारी भी टेलीविजन पत्रकारों को भारी लगती है । शब्दों की सही समझ की कमी, भाषा के आधे–अधूरे ज्ञान [More…]

मीडिया की नजर में “टेलीविजन की भाषा” किताब पत्रकारिता के छात्रों के लिए बेहद फायदेमंद

September 1, 2011 admin 0

टीवी पत्रकारिता के छात्रों और इस पेशे से जुड़े लोगों के लिए ‘टेलीविजन की भाषा’ शीर्षक से लिखी हरीश चंद्र बर्णवाल की किताब मार्केट में लांच हुई है। IBN7 में एसोसिएट एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूर बर्णवाल की ये दूसरी किताब है। किताब के नाम के अनुरूप ये किताब सीधे-सीधे टेलीविजन की भाषा से जुड़ी है। किताब में सिलसिलेवार तरीके से हर विषय पर विस्तार पूर्वक लिखा गया है। मसलन न सिर्फ टेलीविजन की दुनिया के अनुरूप शब्दों और वाक्यों के बारे में [More…]

1 3 4 5